गर्भावस्था के ‘उन्‍तालीसवें सप्ताह’ में गूंज सकती हैं आंगन में किलकारियां !

गर्भावस्था के उन्तालीसवें हफ्ते में आपको बेचैनी सी महसूस होने लगती है लेकिन घबराएं नहीं और हिम्मत से काम लें.इस वक्त आपको मातृत्व की नई चुनौतियों के लिए हर पल तैयार रहना चाहिए क्योंकि जल्‍द ही आपके आंगन में किलकारियां गूंजने वाली हैं.इस सप्ताह शिशु आपके गर्भ का पूर्ण रुप से इस्तेमाल करने लगता है क्योंकि अब वो पूरी तरह से तैयार हो गया हैं.ऐसे में अब आपको कभी भी लेबर पेन हो सकता है. इस लेख के जरिए जानिए गर्भावस्‍था के उन्‍तालीसवें हफ्ते के बारे में.

इस हफ्ते शिशु भी प्रसवास्था में अपनी पूरी भागीदारी देता है और जैसे ही वह सहज और अधिक गर्माहट महसूस करता है तो निरंतर बाहर आने की कोशिश करने लगता है.क्योंकि अगर वो इस हफ्ते जन्म लेता है तो वो पूर्ण रुप से स्वस्थ होता है और सारे अंग सही तरह से काम भी करते हैं.
  • गर्भावस्था के उन्‍तालीसवें हफ्ते में होने वाले शारीरिक बदलाव

  • बच्चे की हलचल में कमी

गर्भावस्था के दौरान सातवें-आठवें महीने में आते-आते बच्चे की हलचल तेज हो जाती है. लेकिन जब नौंवे महीने में डिलीवरी का समय नजदीक आता है तो बच्चे की हलचल धीमी हो जाती है. ऐसे में यदि बच्चे की मूवमेंट बंद हो जाए या बहुत कम हो जाए तो आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए, क्योंकि ऐसी स्थिति में सिजेरियन डिलीवरी करनी पड़ सकती है.
  • पेट खराब होना

    डिलीवरी की तारीख नज़दीक आने पर गर्भवती महिला को पेट खराब रहने की शिकायत हो सकती है. दूसरे शब्दों में कहें, तो डिलीवरी से पहले गर्भवती महिलाएं कब्ज़ या फिर डायरिया का शिकार हो सकती हैं.
  • क्रैम्प्स

    लंबे समय तक लगातार पेट में दर्द व ऐंठन प्रसव पीड़ा का सबसे पहला संकेत होता है. यह दर्द ठीक वैसा ही होता है जैसा मासिक धर्म के दिनों में होता है. लेकिन प्रसव पीड़ा में यह दर्द लगातार बढ़ता जाता है साथ ही कमर में ऐंठन भी होती है.यह दर्द थोड़ी-थोड़ी देर के बाद उठता है.
  • संतुलित आहार

इस वक्त आपको अपने आहार में ज्‍यादा कैलोरी की जरूरत होती है ताकि बच्चे को ऊर्जा मिलती रहे.इसके अलावा, गर्भस्‍थ महिला को भोजन में कैलोरी बढ़ाने के साथ ही प्रोटीन, विटामिन और मिनरल की मात्रा भी बढ़ा देनी चाहिए.
  • फिटनेस मंत्रा

    वॉकिंग के कारण प्राकृतिक रूप से प्रसव पीड़ा प्रारंभ होने की संभावना होती है. क्योंकि यह स्थिति बहुत सही होती है तथा इसके कारण आपके बच्चे को गर्भाशय की ग्रीवा की ओर आने में सहायता मिलती है.

#माईलो टिप

गर्भावस्था के दौरान आपको दी गई सभी रिपोर्टस अन्य जरुरी कागजात जैसे आईडी कार्ड आदि पहले से ही संभालकर बैग में रख लें. Feature Image Soure

×