आपकी गर्भावस्‍था का अंतिम सप्‍ताह हो सकता है ‘अड़तीसवां हफ्ता’ !

गर्भावस्था का अड़तीसवां हफ्ता आपकी गर्भावस्‍था का अंतिम सप्‍ताह हो सकता है क्योंकि अब मां और गर्भ में पल रहा शिशु दोनों ही डिलीवरी के लिहाज से तैयार हैं.इस दौरान गर्भवती महिला की घबराहट और बेचैनी बढ़ जाती है, लेकिन ऐसे में फिर भी आप पर नकरात्मक सोच हावी हो तो डॉक्टर से जरुर संपर्क करें. इस लेख के जरिए जानिए गर्भावस्‍था के अड़तीसवें हफ्ते के बारे में.

  • गर्भावस्था के अड़तीसवें हफ्ते में होने वाले शारीरिक बदलाव

    • बार बार पेशाब आना

    इस हफ्ते में आपको सामान्य से अधिक बार बाथरूम जाना पड़ सकता है क्योंकि इस स्टेज में भ्रूण का अधिक दवाब पड़ने से आपको खुलकर बाथरूम करने में परेशानी हो सकती है.
    • योनि के आसपास गर्माहट का महसूस होना

    इस सप्ताह के दौरान आपको योनि के आसपास बहुत अधिक गर्माहट महसूस होगी, यह बच्चे के बाहर आने का लक्षण है यानी बच्चा अधिक गर्माहट महसूस होते ही किसी भी वक्त बाहर आ सकता हैं.
    • हाथों और चेहरे पर सूजन

    प्रेग्नेंसी के दौरान हाथों में और चेहरे पर सूजन के साथ-साथ अगर तेज पेट दर्द या सिर दर्द की समस्या उत्पन्न हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें क्योंकि यह इस दौरान होने वाले उच्च रक्तचाप का एक संकेत हो सकता है.दरअसल प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाला उच्च रक्तचाप गर्भ में पल रहे शिशु को खून,ऑक्सीजन और भोजन से वंचित कर सकता है.
    • संतुलित आहार

    प्रेग्नेंसी के इस सप्ताह में शिशु पूरी तरह से जन्म लेने के लिए तैयार हैं ऐसे में आपको सोच समझकर खाना चाहिए.इन दिनों सी-फूड, एल्कोहल, कैफीन,धूम्रपान और अधिक तेल-मसाले वाली चीज़ों का सेवन ना करें यह आपके और गर्भ में पल रहे शिशु के लिए घातक हो सकता है.  
    • फिटनेस मंत्रा

    प्रेग्नेंसी के इस सप्ताह में टहलना,व्यायाम और योग करना बंद न करें, यह आराम से प्रतिदिन थोड़ा-थोड़ा करती रहें.क्योंकि यह शिशु के जन्म के समय आपके लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है.

    #माईलो टिप

    बच्चे को जन्म देने के बाद मां को भी बहुत सारे सामान की जरूरत पड़ती है जैसे सैनेटरी नैपकिन,टॉवल,कपड़े,नर्सिंग ब्रा,चप्पल को पहले से ही एक अलग बैग में पैक करके रखें।
  • Feature Image Source

×