गर्भावस्था के ‘पैंतीसवें हफ़्ते’ में पैदा हुआ शिशु होता है 99% सेहतमंद !

आपकी प्रेग्नेंसी का पैंतीसवां सप्ताह शुरू हो गया है और जल्‍द ही आपको शिशु के पैदा होने की संभावित तिथि के बारे में पता चल सकता है.शोध की मानें तो इस सप्ताह के दौरान पैदा हुए 99% शिशु सेहतमंद होते है.यदि अगर आप पहली बार गर्भवती हुई हैं तो आपका प्रसव के बारे में चितिंत होना सामान्य सी बात है.ऐसे में आप अपने डॉक्टर से मदद ले सकती हैं. इस लेख के जरिए जानिए गर्भावस्‍था के पैंतीसवें हफ्ते के बारे में.

  •  गर्भावस्था के पैंतीसवें हफ्ते में होने वाले शारीरिक बदलाव

गर्भावस्‍था के अंतिम चरण में शिशु का भार बढ़ने से मां को कब्ज,ब्रैस्ट में सूजन,यूरिन पास करने में परेशानी,सीने में जलन, रात को नींद न आना,हाथों व पैरों में सूजन,शरीर के निचले हिस्से में खुजली का होना गर्भावस्था के आखिरी चरण की निशानी है.
  • संतुलित आहार

प्रसव का समय निकट आ चुका है और ऐसे में मां को अपने बच्‍चे के लिए प्रचुर मात्रा में दूध की जरूरत होती है. ऐसे में आप अपने भोजन में बैंगन, दालों आदि की मात्रा बढ़ा दें. लेकिन, कैफीनयुक्त पदार्थों और चीनी वाली चीजों से जरा दूरी बना कर रखें.  
  • फिटनेस मंत्रा

प्रसव का समय नजदीक होने की वजह से इस सप्ताह आपके लिए योग, पाइलेंट्स और कार्डियोवस्कुलर जैसे व्यायाम काफी लाभदायक होंगें.इसके अलावा, आप केगल एक्सरसाइज भी कर सकते क्योंकि यह व्यायाम आपकी पेल्विक मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद करता हैं.लेकिन इस सप्ताह कोई भी क्सरसाइज़ को करने से पहले अपने डॉक्टर से जरुर सलाह लें.

#माईलो टिप

यदि आप घर में अकेली रहती हैं तो अपने मोबाइल में सबसे ऊपर उस व्‍यक्ति का नंबर सेव करके रखें, जो आप तक सबसे जल्‍दी पहुंच सकता है. लैंडलाइन फोन के बगल में एक अपने करीबियों के नंबर जरूर लिख दें, ताकि जरूरत पड़ने पर देर न हो.इस दौरान बेहतर होगा कि आप एंबुलेंस का नंबर भी नोट करके रख लें. Feature Image Source

×